World Book Fair 2019: कल से शुरू होगा पुस्तक मेला, जानें- टिकट के रेट

Sponsored Links
नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेले (एनडीडब्ल्यूबीएफ) का 27वां संस्करण 5 से 13 जनवरी तक प्रगति मैदान में किताब प्रेमियों के लिए शुरू होने वाला है. संयुक्त अरब अमीरात का शारजाह, 2019 पुस्तक मेले का विशिष्ट अतिथि है. आयोजकों ने गुरुवार को कहा कि भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) व नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी) पुस्तक मेले के सह आयोजक हैं.
पुस्तक मेले की थीम ‘रीडर्स विद स्पेशल नीड्स’ रखी गई है, जो खासतौर पर बच्चों के लिए है. मेले का उद्घाटन मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर करेंगे. “इस थीम के पीछे विचार यह है कि सम्मान व समानता की भावनाएं पैदा हों, सहानुभूति नहीं.
उन्होंने कहा कि इसका मकसद दिव्यांग लोगों के योगदान को कला, संस्कृति व साहित्य में योगदान के लिए प्रेरित करना है. उन्होंने कहा कि मेले के थीम पवेलियन में विशेष तौर पर ब्रेल किताबें, ऑडियो किताबें, प्रिंट-ब्रेल किताबें, लोगों, बच्चों और दिव्यांग लोगों के लिए प्रदर्शित की जाएंगी.
एक अंतर्राष्ट्रीय विकलांगत फिल्म महोत्सव ‘वी केयर’ में 27 देशों द्वारा 47 फिल्म स्क्रीनों पर प्रदर्शन होगा. इन देशों में भारत, कनाडा, अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका, मिस्र, घाना, हांगकांग व कई यूरोपीय देश शामिल हैं. इस मेले का आयोजन 7 से 12 हॉल में होगा. एनडीडब्ल्यूबीएफ 1972 से इस साहित्यिक व सांस्कृतिक समारोह को आयोजित कर रहा है.
किताबों की बातें: गांधी की कहानी, उन्हीं की जुबानी
प्रगति मैदान में निर्माण व नवीनीकरण के कारण जगह की कमी व कुल जगह का सिर्फ 22 फीसदी होने के बावजूद आईटीपीओ के कार्यकारी निदेशक दीपक कुमार ने कहा कि इस संस्करण में कई वैश्विक स्टालों के बीच दो दर्जन से ज्यादा भारतीय भाषाओं के स्टाल दिखेंगे.
पुस्तक मेले में शारजाह अतिथि प्रतिभागी है. शारजाह अपने पवेलियन में किताबों, साहित्यिक आयोजन, प्रकाशकों के संवाद, किताबों का विमोचन, कविता पाठ व बच्चों की गतिविधियां आयोजित करेगा. मेले में आने वाले लोग पवेलियन के बाहर अमीराती लोक बैंड का भी आनंद ले सकेंगे.
पुस्तक मेले के लिए टिकट ऑनलाइन बुकमाईशो की वेबसाइट से लिए जा सकते हैं. इन्हें प्रगति मैदान से भी प्राप्त किया जा सकता है. टिकट का मूल्य बच्चों के लिए दस रुपये व वयस्कों के लिए बीस रुपये है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*