एमेजॉन वर्षावन आग : ब्राजील विदेशी आर्थिक सहायता लेने के लिए तैयार

ब्राजील एमेजॉन वर्षावन में लगी आग को बुझाने के लिए विदेशी आर्थिक मदद लेने को राजी हो गया है. एक दिन पहले ही उसने यह मदद लेने से इनकार कर दिया था. अब ब्राजील इस शर्त पर यह आर्थिक सहायता लेने के लिए तैयार हो गया है कि इस धन पर लातिन अमेरिकी देश का नियंत्रण होगा.

पीटीआई के मुताबिक राष्ट्रपति जेयर बोलसोनैरो के प्रवक्ता ओटावियो रिगो बरोज ने कहा, ‘ब्राजील सरकार राष्ट्रपति के जरिए संगठनों और देशों से आर्थिक मदद लेने को तैयार है… आवश्यक बिंदु यह है कि यह पैसा, ब्राजील में प्रवेश करने पर, ब्राजील के लोगों के नियंत्रण में होगा.’

इससे पहले ब्राजील ने जी-7 देशों की ओर से की गई मदद की पेशकश ठुकरा दी थी. राष्ट्रपति के चीफ ऑफ स्टाफ ओनिक्स लोरेन्जॉनी ने एक न्यूज चैनल वेबसाइट से कहा था, ‘हम (मदद की पेशकश की) सराहना करते हैं, लेकिन शायद यह बेहतर होगा कि इन संसाधनों का इस्तेमाल यूरोप में पेड़ लगाने में किया जाए.’

ब्राजील के एमेजॉन जंगल को ‘दुनिया के फेफड़े’ कहा जाता है. माना जाता है कि यहां की हरियाली से पूरी दुनिया को 20 फीसदी ऑक्सीजन मिलती है. बीते दो हफ्ते से इसमें लगी भीषण आग बुझने का नाम नहीं ले रही है. पर्यावरण से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता इस स्थिति के लिए राष्ट्रपति जेयर बोलसोनैरो को जिम्मेदार बता रहे हैं.

दूसरी ओर, बोलसोनैरो का कहना है कि एनजीओ ग्रीन ग्रुप्स ने उनकी सरकार को बदनाम करने के लिए यह आपराधिक साजिश रची है. उन्होंने बताया कि इस एनजीओ की फंडिंग सरकार ने घटा दी है, इसलिए वह ऐसा कर रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*