हाल ही में जागरण डॉट कॉम के साथ हुई विशेष बातचीत में सारा अली खान ने कहा कि उनकी मां अमृता सिंह उनके काम में कभी भी दखलंदाजी नहीं करती हैं

फिल्म अभिनेता रणवीर सिंह की सराहना करते हुए सारा अली खान ने जागरण डॉट कॉम को बताया कि रणवीर सिंह भले ही एकदम एनर्जी और उत्साह से भरे हुए व्यक्ति हो लेकिन वह अपनी ऊर्जा को बचाकर और एकाग्र होकर काम करते हैं ताकि वह एक्शन और कट के बीच में उसी ऊर्जा से उस सीन को कर सके और लोगों को एंटरटेन कर सकेl
इस बारे में बताते हुए सारा अली खान कहती हैं,’मैं वरुण धवन के साथ काम करना चाहती हूँ यह सब जानते हैl मेरी पहली फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत ने मेरी मदद एक मेंटर के तौर पर कीl उन्होंने मेरी हिंदी पर बहुत काम कियाl वही फिल्म सिंबा में रणवीर सिंह एक प्रेरक के तौर पर रहेl वह सेट पर कैसे बैठते हैl किसी सीन को कैसे रिहर्सल करते हैl उनकी एनर्जी को कैसे चैनलाइज़ करते हैl वह उनकी एनर्जी को बेकार नहीं करते है बल्कि बचाकर रखते है और एक्शन और कट में उपयोग करते हैl सारा ने बताया कि रणवीर से उन्हें ये सब ही सीखने मिला है l
गौरतलब है कि हाल ही में सारा अली खान की फिल्म सिंबा आई है जिसमें उन्होंने रणवीर सिंह के साथ काम किया हैl इस फिल्म का निर्देशन रोहित शेट्टी ने किया थाl इस फिल्म में अजय देवगन और अक्षय कुमार भी गेस्ट अपीयरेंस में नजर आएl इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ रुपयों से अधिक का बिजनेस कर लिया है l हाल ही में जागरण डॉट कॉम के साथ हुई विशेष बातचीत में सारा अली खान ने कहा कि उनकी मां अमृता सिंह उनके काम में कभी भी दखलंदाजी नहीं करती हैं। सारा ने बताया कि, अगर वह डॉक्टर बनती, तो क्या उनकी मां उनके साथ अस्पताल आती, या वह अगर वकील बनती तो क्या उनकी मां उनके साथ कोर्ट आती, नहीं नाl इसी प्रकार जब वह फिल्म अभिनेत्री बनी हैं तो उनके साथ उनकी मां अधिकतर फिल्म के प्रमोशन पर इसीलिए नहीं आती।
लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि उनकी मां का सारा अली खान पर ध्यान नहीं होताl इस बारे में बताते हुए सारा अली खान कहती है, ”हर माता-पिता चाहते हैं कि उसका बच्चा सफल हो साथ ही वह यह भी देखना चाहते हैं कि वह सफल कैसे होता हैl अगर मैं एक वकील बनती तो क्या मेरी मां कचहरी तक आती नहीं ना और अगर मैं डॉक्टर बनती तो वह मेरे साथ अस्पताल भी नहीं आतीl अभी फर्क सिर्फ इतना है कि यह उनका भी काम है लेकिन मुझे नहीं लगता कि इंडस्ट्री वाले, दर्शक या मीडिया यह मुझे भूलने देगी कि मैं उनकी भी बेटी हूंl तो उन्हें भी हर रोज जताने की आवश्यकता तो नहीं है ना?

Sponsored Links

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*