धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट को कहा अलविदा – महेंद्र सिंह धोनी ने अपना आखिरी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ 2019 में खेला था उस समय यह मात्र 39 वर्ष के थे इन्होंने सेमीफाइनल में टीम का नेतृत्व किया था । किंतु नेतृत्व के बाद भी इनकी टीम हार गई थी जिस वजह से यह काफी मायूस हो गए थे ।  और उन्होंने तब ही निश्चय कर लिया था कि वह अब क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे लेकिन किसी ने यह अंदाजा नहीं लगाया था कि वह इस तरह अचानक सभी को अलविदा कह देंगे। धोनी ने अपने इंस्टाग्राम से अपने रिटायरमेंट की जानकारी पब्लिक की और क्रिकेट से अलविदा हो गए ।

महेंद्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट को कहा अलविदा

महेंद्र सिंह धोनी ना सिर्फ एक कुशल बल्लेबाज बल्कि एक व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति हैं । पूरी दुनिया उनकी दीवानी है इसकी वजह सिर्फ क्रिकेट ही नहीं है बल्कि वह वास्तविक जीवन में भी दिल के बहुत अच्छे हैं । महेंद्र सिंह धोनी ने अपने नेतृत्व में भारत को कई मैच जिताए हैं।

जिस समय महेंद्र सिंह धोनी को भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी सौंपी गई थी तो शायद ही किसी ने यह कल्पना की होगी कि इनकी कप्तानी में देश बुलंदियों तक पहुंच जाएगा जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है।

अभी कुछ ही वर्षों पहले 2007 में जब पहली बार t20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ था उस समय महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका में घुसकर वहां पर भारत का दम दिखाया था वहीं से लोगों ने अंदाजा लगाया था कि यह कितने सफल बल्लेबाज बनेंगे ।

उसके बाद धीरे-धीरे यह प्रगति करते गए और आखिरी में एक समय ऐसा भी आया जब 2011 में वर्ल्ड कप आयोजित किया गया एक बार फिर से सभी देशवासियों को महेंद्र सिंह के ऊपर पूरी उम्मीद थी कि यह इस बार फिर भारत को जीत का तोहफा देंगे और वह सब की उम्मीदों पर बिल्कुल खरा उतरे उन्होंने दूसरी बार फिर से वनडे मैच जीत लिया और देश का मस्तक ऊपर किया।

महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट टीम आगे बढ़ती रही बढ़ती रही और कई सारे मैच जीती रही इसी कड़ी में 2013 में आयोजित आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में भी जीत हासिल की और अपने कप्तानी का लोहा पूरे विश्व में बनवाया।

Source Link : भारत के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट को कहा अलविदा

Sponsored Links
News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *