महाभारत के युद्ध में मारे गए थे 1 अरब 66 करोड़ से ज्‍यादा योद्धा, जानें शवों का क्‍या हुआ

मित्रों यह बात तो लगभग सभी को पता है कि जब पांडवों और कौरवों का युद्ध हुआ तो इस युद्ध में करोड़ो की संख्‍या में योद्धा मारे गये थे। लेकिन क्‍या एक बात कभी आपके जहन में आयी कि आखिर उस समय इतने शवों का क्‍या हुआ होगा। आइए जानते हैं।

जब महाभारत के युद्ध को पांडवों ने जीत लिया तब भगवान श्री कृष्‍ण के साथ पांडव जन्‍मांध धृतराष्‍ट्र से मिलने गये। लेकिन वहां पर धृतराष्‍ट्र ने भीम को मारने का प्रयास किया लेकिन श्रीकृष्‍ण की वजह से उनकी जान बच गयी।

उसके बाद पांडव कौरवों की मां गांधारी से मिलने पहुंचे, लेकिन गांधारी बहुत क्रोधित मुद्रा में थी। लेकिन कुछ समय पश्‍चात गांधारी का गुस्‍सा एकदम शांत हो गया इसके बाद वेदव्‍यास के कहने पर युधिष्ठिर सभी को साथ लेकर कुरूक्षेत्र के मैदान में ले गये। कुरूक्षेत्र में मारे गये लोगों की संख्‍या पूंछी तो उन्‍होने बताया कि इस युद्ध में 1 अरब 66 करोड़ 20 हजार लोग मारे गये हैं।

युधिष्ठिर ने करवाया सभी शवों का अंतिम संस्‍कार-
कहा जाता है कि धृतराष्‍ट्र ने युद्ध में मारे गये सभी शवों का युधिष्ठिर से अंतिम संस्‍कार करने को कहा महाराज युधिष्‍ठिर ने कौरवों के पुरोहित सुधर्मा पांडवों के पुरोहित विदुर, युयुत्‍यु को कुरूक्षेत्र में मारे गये सभी शवों का अंतिम संस्‍कार की आज्ञा दी। इसके बाद सभी शवों का गंगा के किनारे दाह संस्‍कार किया गया।

Sponsored Links

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*