पेपर कप बिजनेस में लगाएं 1 लाख, हर महीने होगी 50000 हजार कमाई

पर्यावरण में बढेत प्रदूषण के कारण से सेहत को नुकसान होता है, इसीलिए छोटे से लेकर बड़े शहर में कागज से बने कप की डिमांड तेजी से बढ़ रहे हैं, चाय पीने से लेकर लस्सी और कोल्ड ड्रिंक जैसे ऐसे बिजनेस शुरुआत करते हैं, तो यहां बिजनेस घाटे का सौदा नहीं है, आप महीने में 50,000 रुपए तक कमा सकते हैं!

पेपर कप में अलग-अलग साइज़ के गिलास तैयार किए जाता है, कागज से बने कप आसानी से डिस्पोज भी हो जाते है, पेपर कप का मेकिंग कहते हैं!

पेपर कप बिजनेस शुरू करने लिए कितनी पूंजी की जरूरत-

बिजनेस को छोटे रूप में शुरू करना चाहते हैं, तो एक से डेढ़ लाख में शुरू हो जाता है। इसके तहत आप 90 से लेकर 200 एमएल तक की ग्‍लास और कप का प्रोडक्‍शन कर सकते हैं। इस काम में छोटी-बड़ी तथा ऑटोमैटिक-सेमी ऑटोमैटिक कई तरह की मशीनों का यूज अपनी लागत के हिसाब से कर सकते हैं। छोटी मशीनें जहां एक ही साइज के कप तैयार करती हैं, 

पेपर कप बिजनेस शुरू करने के लिए जरूरी चीजें-

मशीनरी-

1- पेपर कप फ्रेमिंग मशीन-5 लाख रुपए से शुरू

Sponsored Links

2 – ऑफिस इक्विपमेंट:50 हजार

रॉ मैटेरियल-

1- पेपर रील : 90 रुपए Kg

2- बॉटम रील:78 रुपए Kg

कैसे कराएं रजिस्‍ट्रेशन ?

अगर आप छोटे लेवल पर पेपर कप बनाकर खुद ही मार्केट में बेचना चाहते हैं तो आप घर पर ही छोटी मशीन लगाकर शुरू कर सकते हैं। हालांकि अगर आपको बड़े लेवल पर कारोबार शुरू करना है तो आपको अपने बिजनेस को एमएसएमई के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन या उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। साथ ही ट्रेड लाइसेंस, फर्म का चालू खाता, पैन कार्ड आदि की भी जरूरत पड़ेगी। उद्योग आधार रजिस्टेशन होने पर आप पेपर कम मैन्युफैक्चरिंग उद्योग के लिए मुद्रा लोन भी हासिल कर सकते हैं।

कहां मिलती है मशीन?

कागज के कप बनाने की मशीन दिल्ली, हैदराबाद, आगरा एवं अहमदाबाद समेत कई शहरों में मिलती है। इस तरह की मशीनें तैयार करने काम इंजीनियरिंग वर्क करने वाली कंपनियां करती हैं। इसके अलावा आप इंडिया मार्ट और अलीबाबा की वेबसाइट पर जानकार भी सीधा इन मशीनों के सेलर्स से संपर्क कर सकते हैं,

सरकारी सपोर्ट पेपर कप बिजनेस के लिए मिल सकता है?

आप मुद्रा योजना के तहत इस कारोबार के लिए बैंक से लोन हासिल कर सकते हैं। मुद्रा लोन के तहत सरकार ब्‍याज पर सब्सिडी देती है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *