जल्द ही खुलेंगे विश्वविद्यालय और कॉलेज, तैयारी में जुटी शिक्षा मंत्रालय और यूजीसी

जल्द ही खुलेंगे विश्वविद्यालय और कॉलेज, तैयारी में जुटी शिक्षा मंत्रालय और यूजीसी – कोरोना वायरस महामारी के कारण बंद किए गए अब विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को खोलने की तैयारी अब शुरू हो चुकी है। शिक्षा मंत्रालय और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) इसके लिए अपनी रणनीति तैयार कर रही है। सूत्रों के अनुसार 10 मार्च से सभी विश्वविद्यालय और कॉलेजों में छात्र उपस्थित हो सकेंगे। लेकिन प्रयोगात्मक, शोध कार्यों और परीक्षाओं के लिए इसे फरवरी माह में ही खोला जा सकता है। मंत्रालय ने इसको लेकर राज्यों से भी सुझाव मांगे हैं।

कोरोना वायरस मरीजों की संख्या के हिसाब से बन सकती है रणनीति

कोरोना वायरस मरीजों की संख्या के हिसाब से यूजीसी और शिक्षा मंत्रालय अलग रणनीति बना सकती है। अगर किसी जगह पर कोरोना संक्रमित मरीज हैं तो शायद उस स्थान पर मौजूद विश्वविद्यालयों या कॉलेज को खोलने की अनुमति नहीं मिल सकती है। इसके अलावा अगर किसी कॉलेज या विश्व विद्यालय के स्टाफ आया छात्र कोरोना संक्रमित पाया गया तो सरकार या प्रशासन की उस समय क्या रणनीति रहेगी इसके बारे में अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है।

सिर्फ अंतिम वर्ष के छात्रों को ही मिलेगी कॉलेज आने की अनुमति

शिक्षा मंत्रालय द्वारा बनाई गई रणनीति के हिसाब से किसी कोर्स के अंतिम वर्ष के छात्रों को ही कॉलेज या विश्वविद्यालय आने की अनुमति मिलेगी। जैसे स्नातक के अंतिम वर्ष और परास्नातक के अंतिम वर्ष के छात्र ही कक्षाएं ले सकेंगे। बाकी वर्षों के छात्र सिर्फ परीक्षा देने के लिए ही संस्थान में आ सकेंगे। जैसा कि अब तक कक्षा 10 और 12 के छात्रों को स्कूल जाने की अनुमति थी तथा 9 और 11 के छात्रों को सिर्फ परीक्षा देने जाने की अनुमति दी गई थी।

Sponsored Links

छात्र कर रहे हैं कॉलेज और विश्वविद्यालय खोलने की मांग

अभी फिलहाल किसी भी कॉलेज या विश्वविद्यालय में सिर्फ कार्यालयी कामकाज हो रहे हैं। लेकिन कई छात्र उच्च शिक्षण संस्थान खोलने की मांग कर रहे हैं। हालांकि पढ़ाई पूरा करवाने के उद्देश्य से कई कॉलेज और विश्वविद्यालय ऑनलाइन क्लास की सुविधा दे रहे हैं लेकिन दूर और छोटे गांवों से सम्बंध रखने वाले छात्र इससे वंचित रह रहे हैं।

जम्मूकश्मीर में एक फरवरी से खुल रहे हैं कॉलेज और विश्वविद्यालय

उच्च शिक्षा विभाग ने आदेश जारी करके कहा है कि कि जम्मू संभाग के समर जोन क्षेत्रों में कॉलेज और विश्वविद्यालय 1 फरवरी से फिर से खुलेंगे। कश्मीर संभाग और विंटर जोन क्षेत्रों में 15 फरवरी को शीतकालीन अवकाश के बाद संस्थान फिर से खुलेंगे। आदेश में संस्थानों, कर्मचारियों और छात्रों को  कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करने का आग्रह किया गया है।

विरोध प्रदर्शन और धरना करेगा पढ़ाई को प्रभावित

जम्मू और कश्मीर के विद्यार्थी कॉलेज और विश्वविद्यालय खुलने से पहले ही अपने-अपने कालेजों और विश्वविद्यालयों में पहुंच कर प्रदर्शन शुरू कर चुके है। उनके द्वारा यह मांग की जा रही है कि कालेजों और विश्वविद्यालयों के खुलने के बाद उनकी परीक्षाएं ऑफलाइन न होकर ऑनलाइन हो। साथ ही साथ पुराने पेपरों में मॉस प्रमोशन भी दी जाए। कलस्टर विश्वविद्यालय (जम्मू), महिला कालेज (परेड), गवर्नमेंट कालेज आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (जम्मू) के विद्यार्थी पहले ही प्रदर्शन शुरू कर चुके है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *